Pages

Search This Website

Tuesday, September 28, 2021

Admission open Samaras Hostel 2021@samaras.gujarat.gov.in

Admission open Samaras Hostel 2021@samaras.gujarat.gov.in

Admission open Samaras Hostel 2021@samaras.gujarat.gov.in

Samaras Hostel Admission 2021: Gujarat Samaras Chatralay Society Published Admission Notification For Students.Intrested And Eligible Students Apply Online Through Official Website.All Details About Samaras Hostel Admission 2021 Given Below.


Samaras Hostel Admission 2021

According To The Latest Updates Samaras Hostel Admission Available For All Cast Students.Gujarat Samaras Hostel Admission 2021 Open Now.

Gujarat Samaras Hostel Location

  • Ahmedabad Samaras Hostel Admission 2021
  • Rajkot Samaras Hostel Admission 2021
  • Surat Samaras Hostel Admission 2021
  • Vadodara Samaras Hostel Admission 2021
  • Patan Samaras Hostel Admission 2021
  • Anand Samaras Hostel Admission 2021
  • Bhavnagar Samaras Hostel Admission 2021
  • Jamnagar Samaras Hostel Admission 2021
  • Bhuj Samaras Hostel Admission 2021
  • Himatnagar Samaras Hostel Admission 2021
  • Samaras Hostel Admission 2021 Document

Admission open Samaras Hostel 2021@samaras.gujarat.gov.in

 

Samras Government Hostels Admission 2021-22 Available on Digital Gujarat (samras.gujarat.gov.in):

  • Rajkot Samaras Hostel Admission 2021-22
  • Ahmedabad Samaras Hostel Admission 2021-22
  • Baroda Samaras Hostel Admission 2021-22
  • Surat Samaras Hostel Admission 2021-22
  • Anand Samaras Hostel Admission 2021-22
  • Himmatnagar maras Hostel Admission 2021-22
  • bhuj Samaras Hostel Admission 2021-22
  • Jamnagar Samaras Hostel Admission 2021-22
  • Bhavnagar Samaras Hostel Admission 2021-22


 List

  • Character Certificate
  • Caste Certificate
  • Income Certificate
  • Student Last Marksheet
  • Passport Size Photo
  • Leaving Certificate
  • Aadhar card Zerox
  • Disability Certificate(If The Student Is Disabled)
  • Certificate If The Child Is An Orphan

Admission open Samaras Hostel 2021@samaras.gujarat.gov.in

 

How To Apply Samaras Hostel Admission 2021

  1. First Visit Official Website www.samaras.gujarat.gov.in
  2. Click On Registration Tab.
  3. Then Fill Your Below Details
  4. First Name
  5. Middle Name
  6. Last Name
  7. Date Of Birth
  8. Mobile Number
  9. Email Id
  10. Aadhar Card Number
  11. Enter Password
  12. Fill CAPTCHA Code
  13. After Filling All Details Click On Register Button.


Important Dates

Advertisement Published Date:28/09/2021

Last Date For Filling Online Application:15/10/2021

Important links

Apply online : Click here

Registration Guide lines માટે અહીં ક્લિક કરો

Official website of Samaras Hostel  માટે અહીં ક્લિક કરો

Read More »

Personal Loans vs. Credit Cards: What’s the Difference ?

 Personal Loans vs. Credit Cards: What’s the Difference ?

 How they compare and the pros and cons of each

 

Personal Loans vs. Credit Cards: What’s the Difference ?


 Personal loans vs credit card


Feature

            Personal Loan

Credit card

Purpose

Loan for a range of purposes, such as medical expenses, children’s education, wedding, home renovation etc

Small and big purchases for business or personal needs

How to borrow

By applying to a bank or financial institution with documentation

By using credit card in-store or online

Disbursement

Amount paid as lumpsum to the customer

Paid directly to the merchant on card swipe

Repayment

As EMIs to the bank for a specified tenure

Paid by customer at the end of credit period

Tenure

Generally from one to five years

Free interest free credit period usually up to 45 days

Borrowing limit

Calculated by bank based on proof of income

Predetermined monthly credit limit

Interest rates

Competitive in comparison to cards after free credit period (i.e. beyond due date)

Marginally higher than personal loans in case of delayed or part payments


When to purchase through a Mastercard

  • At the point when you need to purchase something inside your credit limit
  • At the point when you have adequate charge card limit for a first-class buy.
  • At the point when you need to purchase instore or on the web 
  • At the point when you are not qualified for an individual advance 
  • When to purchase by means of individual credit 
  • At the point when you need a significant measure of cash higher than your Mastercard limit. 
  • At the point when you are arranging a huge buy that you need to pay throughout some undefined time frame 
  • At the point when you need to pay a business or individual who doesn't acknowledge Mastercards.
  • Do recollect that you can generally utilize your Visa for needs far beyond your own credit sum.

Individual Loans  

Moneylenders offer an assortment of choices inside the individual advance class that can influence the credit terms. By and large, the principle distinction between an individual advance and a Mastercard is the drawn out balance. Individual advances don't offer continuous admittance to reserves like a Mastercard does. A borrower gets a single amount front and center and makes some limited memories casing to reimburse it in full, through booked installments, and resign the credit. This course of action ordinarily accompanies lower interest for borrowers with a decent to high credit score.2

 An individual advance can be utilized for some reasons. An unstable advance can offer assets to back huge buys, unite Visa obligation, fix or update a home, or give subsidizing to fill a hole in receipt of pay. Unstable credits are not sponsored by insurance promised from the borrower.

Home credits, automobile advances, and different sorts of got advances can likewise be viewed as an individual advance. These advances will keep guideline systems for credit endorsement, however they might be simpler to acquire since they are upheld by a lien on resources.

In a home credit or a car advance, for instance, the loan specialist has the privilege to claim your home or vehicle after a predefined number of misconducts. Gotten credits normally accompany somewhat better terms on the grounds that the loan specialist has proprietorship rights implied which decreases their default hazard. Here are a few advantages and disadvantages of an individual credit.

Credit extension V/S Credit

Personal Loans vs. Credit Cards: What’s the Difference ?

A differentiation worth calling attention to is the contrast between a credit extension (LOC) and an advance. In contrast to an advance, a credit extension has implicit adaptability—its principle advantage. An impediment is that it commonly accompanies higher financing costs.

A LOC is a preset credit sum, however borrowers don't need to utilize everything. A borrower can get to assets from the credit extension whenever as long as they don't surpass as far as possible terms and different necessities, like making opportune least installments.

A LOC can be gotten or unstable (most are the last mentioned) and is ordinarily presented by banks. A significant special case is a home value credit extension (HELOC), which is gotten by the value in the borrower's home.

Charge cards

Charge cards fall into an alternate class of getting known as rotating credit. With a rotating credit account, the borrower normally has progressing admittance to the assets as long as their record stays on favorable terms. Rotating charge card records can likewise be qualified for credit-limit increments consistently. Financing costs are normally higher than individual advances.

Spinning credit works uniquely in contrast to an individual advance. Borrowers approach a predetermined sum yet they don't get that sum in full. Maybe, the borrower can take assets from the record at their attentiveness whenever up to the most extreme breaking point. Borrowers just compensation interest on the assets they utilize so a borrower could have an open record with no interest in the event that they have no equilibrium.

Mastercards can come in numerous assortments and deal a great deal of convenience.4 The best Mastercards can incorporate 0% basic premium periods, balance move accessibility, and prizes. On the opposite finish of the range, some can accompany high yearly rate financing costs joined with month to month or yearly expenses. All Visas can for the most part be utilized anyplace electronic installments are acknowledged.

Top quality cards with remunerations focuses can be profoundly valuable for a the borrower advantages and pays adjusts down month to month. Prizes cards can offer money back, focuses for limits on buys, focuses for store brand buys, and highlights travel.

As a general rule, charge cards can likewise be unstable or gotten. Unstable cards offer credit with no security. Gotten cards are frequently a possibility for borrowers with low financial assessments. With a got card, a borrower is needed to give capital towards the card's equilibrium limit. Gotten cards have differing terms so some might coordinate with the got balance, some might offer an increment after a predefined measure of time, and some might apply the tied down equilibrium to the card as an installment following a while.

Generally, each kind of charge card will have its own particular manner of amassing interest so it very well may be imperative to peruse the fine print. In contrast to individual advances, where your regularly scheduled installment is generally something very similar over the whole reimbursement time frame, a Mastercard bill will fluctuate every month.

Some charge cards offer borrowers the upside of an assertion cycle beauty period which takes into consideration uninhibitedly acquired assets. Different cards will charge every day interest, including the last interest charge toward the month's end. For cards with an elegance period, borrowers can find that they have around 30 days to buy something interest free if the equilibrium is paid before interest starts to collect.

Read More »

Gas-powered vs. Electric Cars: Which Is Faster?

 Gas-powered vs. Electric Cars: Which Is Faster?

 
Gas-powered vs. Electric Cars: Which Is Faster?

 You're at the red light and the person close to you fires up his motor. You chuckle to yourself, however, in light of the fact that he unmistakably doesn't see you're driving a Tesla Model S (or he thinks an electric vehicle [EV] is a debilitation). The light becomes green, you put the pedal the floor and leave him in the residue. Bye, Felicia!

The place of the story is to say that assuming you need to go from zero to 60 mph (zero to 96.5 kph) as quick as could really be expected, an electric vehicle is the best approach. Astounded? So was the person at the red light that you smoked in this little made-up story. Notwithstanding, gas-fueled vehicles can in any case have quicker maximum velocities. So what's the critical contrast between the two vehicles? Generally, the transmission, or scarcity in that department.

Fast V/S Quick


To begin with, in everyday dashing wording, "speedy" signifies how long it requires to get from guide A toward point B, while "quick" signifies the maximum velocity a vehicle comes to. In racing, for instance, the "quicker" vehicle hits the higher speed throughout the span of the race, yet the speedier vehicle gets to the end goal first.

Electric vehicles are equipped for being speedier than gas-fueled vehicles, yet EVs aren't yet fit for speeding up. Our little zero to 60 situation is a genuine model. Gas vehicles do have an exhibition advantage when those maximum velocities are being supported for longer timeframes.

A 2015 Fortune article included previous Tesla engineer Dustin Grace, who gave a decent outline. Electric vehicles produce significantly more force than gas vehicles, which is significant on the grounds that force is the thing that drives the vehicle forward. Besides, an electric engine takes out the requirement for a customary transmission in numerous cutting edge plans. The force goes directly to the wheels for moment speed increase, making EVs speedier on the beginning.

In a gas-controlled vehicle, the motor needs to course the force first to the transmission and afterward to the wheels (the parts all in all known as the "drivetrain" or "powertrain"). This cycle takes longer, squandering critical zero to 60 potential. A portion of the force made by the motor — normally around 15% — is additionally squandered going through the drivetrain, known as drivetrain misfortune.

Productivity Equals Horsepower

In case you're contrasting an electric vehicle and a gas vehicle with a similar torque rating, the electric vehicle can utilize significantly more of its pull, as well. That is on the grounds that EVs have less moving parts, so they're ready to run all the more proficiently. (Productivity isn't based rigorously as far as fuel utilization; the vehicle's speed and readiness are influenced, as well.) This likewise makes electric vehicles less expensive to run after some time by lessening motor support costs.

The moment force and the streamlined powertrain are the two factors that empower an electric vehicle to take off from a stop a lot quicker than a gas vehicle of tantamount force specs. That is the way Tesla and other electric supercars accomplish zero to multiple times of only a few seconds.

Gas-powered vs. Electric Cars: Which Is Faster?

Tesla doesn't give strength evaluations, however Road and Track utilized a machine called a dynamometer to test a top-end 2017 Model S P100D with the Ludicrous Speed update. They got a perusing of 588 drive at the wheels (which, once more, is to some degree short of what it would be appraised whenever tried at the motor).

At the point when Motor Trend street tried the Tesla Model S P100D in 2017, the magazine had never seen a zero to 60 disagreement under 2.3 seconds. Be that as it may, the Tesla came in at 2.275 seconds, which at the time made it the fastest stock creation vehicle of all time. Notwithstanding, as Frank Markus at Motor Trend clarified, if that Tesla was hustling against a Ferrari LaFerrari, Porsche 918 or McLaren P1, those three gas-fueled supercars would get up to speed to the Tesla and pull ahead in no time.

On the off chance that Ferrari or McLaren are a little external your spending plan, a gas-fueled vehicle like the 2019 Dodge Challenger SRT Hellcat, with its 840-pull supercharged 6.2-liter V8 motor, brags a maximum velocity 203 mph (326.6 kph) and a zero to 60 season of 3.4 seconds.

  The Transmission Disadvantage

As far as zero to multiple times, electric vehicles right now enjoy the huge benefit. Nonetheless, the EV business is understanding that their vehicles need to support that exhibition as time goes on, which drives us back to the transmission.

For all of the excitement encompassing EV's presentation and effectiveness because of the shortfall of a conventional transmission, a few specialists are really dealing with new transmission plans explicitly for electric vehicles. That is on the grounds that the absence of one keeps the EV's maximum velocity more slow than it in any case would be.

A very much planned transmission, explicitly for an EV, would go about as a kind of delegate to assist with dealing with the vehicle's force conveyance, just as the battery range. This would make it conceivable to drive at quicker velocities for longer timeframes while as yet squandering less energy. For the most part, the batteries on electric vehicles top out at around 250 to 310 miles (402 to 498 kilometers), however a high level transmission configuration could assist with broadening that reach. The key is to keep it basic, interceding simply enough to make the vehicle as great at quick rates for what it's worth at low paces.

As per The Drive, there are signs that Tesla is dealing with another electric transmission, because of an extended 1.9-second zero to 60 time for the forthcoming Tesla Roadster. Be that as it may, for the present, the 2.3-second Model S should do.

Gas Powered or Electric Cars FAQ

Que . Are electric vehicles better than gas vehicles?

Ans .. Electric vehicles beat gas vehicles as far as manageability and natural neighborliness. Nonetheless, up until now, gas vehicles have the edge as far as pull and mileage.

Que . Are electric vehicles better than gas vehicles for the climate?

Ans .. Electric vehicles emphatically affect the climate due to the less emanations they produce. Gas vehicles, then again, produce smoke and carbon dioxide that contaminates the climate.

Que . What are the benefits and detriments of electric vehicles?

Ans .. Electric vehicles have lower expenses and emanations and decidedly affect the climate. The main thing they need is the great exhibition and high paces of conventional gas vehicles.

Que . Why are gas vehicles better than electric vehicles?

Ans .. Customary gas vehicles perform better at high paces when contrasted with electric vehicles. Gas motors are less difficult and simpler to produce and keep up with.

Que . Are electric vehicles more savvy?

Ans .. Indeed. Electric vehicles are savvy over the long haul in view of less emanations.

Read More »

how to cure back pain fast at home

आजकल कई लोगों को कमर दर्द की शिकायत हो रही है, चलिए आज जानते है आप कैसे इससे मुक्ति पा सकते हैं|

कोरोना की वजह से लोग पिछले कई महीनों से लगातार वर्क फ्रॉम होम कर रहे हैं। ऐसे में सही तरीके से न बैठने से लोगों को कई तरह की दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। कुछ लोग पीठ के बल बैठे होंगे तो कुछ को बिस्तर पर लेटे-लेटे मोबाइल और लैपटॉप चलाने की आदत होगी। कुछ लोग एक ही पोजीशन में तकिये पर बैठकर समय भी बर्बाद करते हैं, इस तरह के आसन से आपकी रीढ़ की हड्डी को नुकसान पहुंचता है।

16  अक्टूबर विश्व स्पाइन दिवस (World Spine Day)  के रूप में पूरे विश्व भर में रीड की हड्डी के रोगों के प्रति जागरूकता फैलाने के लिए मनाया जाता है। रीढ़ की हड्डी संबंधी विकार विकलांगता के प्रमुख कारणों में से हैं। विश्व रीढ़ दिवस रीढ़ की हड्डी संबंधी विकारों के बारे में जागरूकता बढ़ाता है। इस वर्ष विश्व स्वास्थ्य संगठन की ओर से इस मौके पर #GetSpineActive के संदेश के साथ स्वयं की अच्छी देखभाल करके रीढ़ के दर्द और विकलांगता को रोकने के लिए सभी उम्र के लोगों को सूचित, शिक्षित और प्रेरित करना रखा गया है।

आजकल कमर में दर्द कभीभी  किसी भी वजह से हो सकता है, हम दर्द की स्थिति में किसी भी चीज पर ध्यान नहीं लगा सकते  है। जैसे की अगर हमने ज्यादा भारी सामान उठा लिया तो हमें कमरदर्द हो सकता है,  ज्यादा हेव वर्कआउट करने  से,  ज्यादा देर तक एक ही तरीके से बैठे रहने से आदि। ऐसे में कुछ घरेलू उपाय आपको इस स्थिति से तुरंत राहत दे सकते हैं।



मसाज

सरसों के तेल, ऑलिव ऑइल, लैवेंडर ऑइल इनमें से किसी को भी चुनें और उसे हल्का गर्म कर कमर पर मालिश करें। इस दौरान अंगूठों से रीढ़ की हड्डी पर भी हल्का दबाव बनाते हुए मसाज करें। सीधे के साथ ही सर्कुलर मोशन में भी मसाज करें। इससे आपको कुछ ही देर में दर्द से राहत महसूस होगी।

एप्सम सॉल्ट

एक कटोरी एप्सम सॉल्ट को हल्के गर्म पानी से भरे बाथटब में डालें। जबतक पानी की गर्माहट रहे तब तक बाथटब में रहे। बाहर निकलते ही आप दर्द में कमी महसूस कर सकेंगे।

मेथी दाना

एक चम्मच मेथी दाना लें और इसका पाउडर बना लें। अब एक ग्लास गर्म दूध में इसे मिलाएं और साथ में एक टीस्पून शहद डालें। इसे सिप लेते हुए पिएं। एक घंटे में आपको कमर दर्द में आराम महसूस होगा।

ऐपल साइडर विनिगर

कमर के दर्द को कम करने के लिए ऐपल साइडर विनिगर को सबसे अधिक कारगर माना गया है। इसकी वजह है इसका ऐल्कलाइन नेचर। यह बॉडी में मौजूद खतरनाक और विषैले तत्वों और इकट्ठा हुए मिनरल्स को घोल देता है। इसके अलावा यह जोड़ों को लचीलापन देने वाले लुब्रिकेंट्स का पुनर्निर्माण करने में भी मदद करता है। इसलिए रोजाना या तो सोने से पहले 1 कप पानी में एक ढक्कन ऐपल साइडर विनिगर मिलाकर पिएं या फिर उसे सरसों या नारियल के तेल के साथ मिलाकर प्रभावित हिस्से पर लगाएं।



1.अदरक और शहद
 
how to cure back pain fast at home
अगर आपको कमर में दर्द हो रहा है तो ऐसे में आपको अदरक को गर्म पानी में भिगोकर रखें और इसके बाद इसमें शहद मिलाकर इसका सेवन करें. इसके अलावा आप चाहें तो अदरक के तेल से कमर की मालिश करें. इसी के साथ आप चाहें तो तुलसी के पत्ते को गर्म पानी में भिगोकर रखें और फिर इसमें शहद मिलाकर लें आपको आराम पहुंचेगा

2. लहसुन
how to cure back pain fast at home
लहसुन हर किसी को पंसदनहीं होता है लेकिन ये सेहत के लिए हर तरीके से फायेदेमंद होता है. ऐसे में कमर दर्द के लिए आप लहसुन की कम से कम 8 से 10 कलियां लेकर उसका अच्छे से पेस्ट बनाएं औऱ उसके बाद उसे अपनी कमर पर लगाएं. ऐसा करने से आपको कुछ दिनों में कमर दर्द से राहत मिल जाएगी.

3. आइस पैक
how to cure back pain fast at home
 
आइस पैक हर दर्द में आपकी मदद करता है ऐसे में आप आइस पैक का इस्तेमालक र सकते हैं. ऐसा करने से आपको काफी हद तक आराम मिलेगा. ये पैक आपके कमर में होने वाली सूजन को खत्म कर देगा.

4. हल्दी
how to cure back pain fast at home

 
शरीर में किसी भी तरह के दर्द औऱ सूजन से राहत पाने के लिए हल्दी काफी पावरफुर साबित होती है. ऐसे में आप चाहें तो आप हल्दी और दूध पीकर आप इससे राहत पा सकते हैं.

 

कमर में बहुत ज्यादा दर्द हो तो क्या करना चाहिए?

कैसे होती है स्पाइन की बीमारी

कम्प्रेसिव मायलोपैथी नामक बीमारी रीढ़ (स्पाइन) की हड्डियों को संकुचित कर उन्हें कमजोर कर देती है। कम्प्रेसिव मायलोपैथी नामक बीमारी आमतौर पर पचास साल की उम्र के बाद शुरू होती है परंतु कई कारण ऐसे भी हैं जिनकी वजह से यह कम उम्र में भी परेशानी का कारण बन सकती है। कमर से लेकर सिर तक जाने वाली रीढ़ की हड्डी के दर्द को ही स्पॉन्डिलाइटिस कहते हैं। यह ऐसा दर्द है जो कभी नीचे से ऊपर और कभी ऊपर से नीचे की ओर बढ़ता है।

ये होते हैं कारण

सर्वाइकल स्पॉन्डिलाइटिस रीढ़ से संबंधित समस्याओं के कारण जब स्पाइनल कैनाल सिकुड़ जाता है, तब स्पाइनल कॉर्ड पर दबाव अधिक बढ़ जाता है। इसके अलावा इस बीमारी के अन्य कई कारण हैं जैसे रूमैटिक गठिया के कारण गर्दन के जोड़ों को नुकसान पहुंच सकता है, जिससे गंभीर जकड़न और दर्द पैदा हो सकता है। रूमैटिक गठिया आमतौर पर गर्दन के ऊपरी भाग में होता है। स्पाइनल टीबी,स्पाइनल ट्यूमर, स्पाइनल संक्रमण भी इस रोग के प्रमुख कारण हैं। कई बार खेलकूद, डाइविंग या किसी दुर्घटना के कारण रीढ़ की हड्डी के बीच स्थित डिस्क (जो हड्डियों के शॉक एब्जॉर्वर के रूप में कार्य करती है) अपने स्थान से हटकर स्पाइनल कैनाल की ओर बढ़ जाती है, तब भी संकुचन की स्थिति बन जाती है। इस वजह से भी समस्या होती है।

बिना ऑपरेशन के उपचार संभव

इस बीमारी का बिना आपरेशन के भी इलाज संभव है। जब ये रोग शुरू होता है तो दर्द और सूजन कम करने वाली दवाओं और गैर-ऑपरेशन तकनीकों से इलाज किया जाता है। गंभीर दर्द का भी कॉर्टिकोस्टेरॉयड से इलाज किया जा सकता है, जो पीठ के निचले हिस्से में इंजेक्ट की जाती है। रीढ़ की हड्डी को मजबूती और स्थिरता देने के लिए फिजियोथेरेपी की जाती है। इसके अलावा भी कई ऐसी सर्जिकल तकनीकें हैं जिनका इस रोग के इलाज में इस्तेमाल किया जा सकता है।

बीमारी का कैसे चलेगा पता

इस बीमारी का पता लगाने के लिए डॉक्टर एमआरआई का सहारा लेते हैं। इस जांच के द्वारा रीढ़ की हड्डी में संकुचन और इसके कारण स्पाइनल कॉर्ड पर पड़ने वाले दबाव की गंभीरता को स्पष्ट रूप से देखा जा सकता है। इसके अलावा कई बार रीढ़ की हड्डी में ट्यूमर होने पर कंप्यूटर टोमोग्राफी (सीटी) स्कैन, एक्स-रे आदि से भी जांच की जा सकती है। 

 

सर्जिकल उपचार

कम्प्रेसिव मायलोपैथी की समस्या के स्थायी इलाज के लिए प्रभावित स्पाइन की वर्टिब्रा की डिकम्प्रेसिव लैमिनेक्टॅमी (एक तरह की सर्जरी) की जाती है ताकि स्पाइनल कैनाल में तंत्रिकाओं के लिए ज्यादा जगह बन सके और तंत्रिकाओं पर से दबाव दूर हो सके। यदि डिस्क हर्नियेटेड या बाहर की ओर निकली हुई होती हैं तो स्पाइनल कैनाल में जगह बढ़ाने के लिए उन्हें भी हटाया जा सकता है, जिसे डिस्केक्टॅमी कहते हैं। कभी-कभी उस जगह को भी चौड़ा करने की जरूरत पड़ती है, जहां तंत्रिकाएं मूल स्पाइनल कैनाल से बाहर निकलती हैं। इस स्थान को फोरामेन कहते हैं।

ये होते हैं लक्षण

- लिखने, बटन लगाने और भोजन करने में समस्या

- गंभीर मामलों में मल-मूत्र संबंधी समस्याएं उत्पन्न होना

- चलने में कठिनाई यानी शरीर को संतुलित रखने में परेशानी

- कमजोरी के कारण वस्तुओं को उठाने या छोड़ने में परेशानी

- सुन्नपन या झुनझुनी का अहसास होना

- गर्दन, पीठ व कमर में दर्द और जकड़न

ऐसे कर सकते हैं बचाव

- कंप्यूटर पर अधिक देर तक काम करने वालों को कम्प्यूटर का मॉनीटर सीधा रखना चाहिए।

- कुर्सी की बैक पर अपनी पीठ सटा कर रखना चाहिए। थोड़े-थोड़े अंतराल पर उठते रहना चाहिए। 

- फिजियथेरेपी द्वारा गर्दन का ट्रैक्शन व गर्दन के व्यायाम से आराम मिल सकता है।

- व्यायाम इस रोग से बचाव के लिए आवश्यक है।

- देर तक गाड़ी चलाने की स्थिति में पीठ को सहारा देने के लिए तकिया लगाएं।  

कमर दर्द के लिए कौन सी टेबलेट लेनी चाहिए?

कमर दर्द के लिए  पैरासिटामोल दवा चिकिस्तक द्वारा सिफारिश की जाती है जो टैबलेट के रूप में उपलब्ध है।
 यह दवा मुख़्यतौर पर बुखार, दर्द के इलाज के लिए उपयोग किया जाता है।
इसके अलावा कुछ अन्य स्वास्थ्य समस्या के इलाज के लिए पैरासिटामोल दवा का उपयोग किया जाता है। चिकिस्तक यह दवा आयु, लिंग व स्वास्थ्य की स्तिथि के अनुसार निर्धारित करते है। हालांकि दवा की खुराक व्यक्ति के स्तिथि के आधार पर देते हैं। कई मामलो में पैरासिटामोल का नुकसान हो सकता है जो लंबे समय तक रह सकता है।

पैरासिटामोल का उपयोग आमतौर पर बुखार व सिरदर्द ,कमर दर्द, पैरो में दर्द, दांत दर्द, एड़ी में दर्द, कलाई में दर्द, मांसपेशियो में दर्द, स्लिप डिस्क, आस्टियोआर्थराइटिस, माइग्रेन आदि के लिए उपयोग किया जाता है। मानसून की बीमारिया में डेंगू, मलेरिया, चिकनगुनिया, वायरल फीवर के इलाज में दवा का उपयोग किया जाता है। साइटिका, वृषण में सूजन जैसे समस्या के लिए पैरासिटामोल उपयोगी दवा के रूप में कार्य करता है। गर्भावस्था में ब्रेस्ट में दर्द, बुखार, सिरदर्द, बदन दर्द, ऐंठन, कमर दर्द, पेडू में दर्द आदि समस्या में चिकिस्तक पैरासिटामोल दवा की सलाह देते है।

पैरासिटामोल किसे निर्धारित किया जाता है ? (When Paracetamol is prescribed in Hindi)

 

how to cure back pain fast at home

चिकिस्तक पैरासिटामोल दवा बुखार, सिरदर्द, दर्द वाले लोगो के लिए निर्धारित करते है यदि व्यक्ति पहले से किसी बीमारी से ग्रस्त है तो चिकिस्तक इस दवा की सलाह नहीं देते है।


चलिए जानते है पैरासिटामोल के साथ कौन सी दवा नहीं लेनी चाहिए ? (What medication should not be taken with Paracetamol in Hindi)

 

किसी तरह की कोई भी  दवा का सेवन पहले से कर रहे है तो पैरासिटामोल का उपयोग करने से पहले चिकिस्तक की सलाह लेना चाहिए। बिना चिकिस्तक की  सलाह के दवा का उपयोग शरीर पर बुरा प्रभाव दल सकता है।
 कृपया आप चिकिस्तक की सलाह के बिना इनका सेवन न करें।

 

    जैसे  की –
    1 कोलेस्टिरमाइन (cholestyramine)

    2 डोमपरिडोन (domperidone)

    3 कूमैरान्स (Coumarins)

    4 एंटीकोनवल्सेन्ट्स (anticonvulsants)

    5 मेटोक्लोप्रमाइड (metoclopramide)

    6 प्रोबेनेसिड (probenecid)

    7  क्लोरमफेनिकॉल (chloramphenicol)

 

चलिए जानते है  पैरासिटामोल के नुकसान ? (Side-Effects of Paracetamol in Hindi)

 

आपको पैरासिटामोल के निम्न दुष्परिणाम देखने को मिल सकते है।

 

   1 भूख में कमी आना।

   2  सूजन की समस्या होना।

   3  दस्त होना।

   4  कब्ज की समस्या होना।

   5 त्वचा पर लाल दाने आना।

   6  त्वचा में खुजली होना।

   7 त्वचा पर लाल चकत्ते पड़ना।

   8  त्वचा में जलन होना।

   9  हल्का पीलिया का जोखिम होना।

   10  गंभीर रूप से एनीमिया होना।

   11  लिवर को नुकसान पहुंचना। (और पढ़े – लिवर सिरोसिस की समस्या)

   12  एडिमा होना।

   13  स्टीवन जॉनसन सिंड्रोम।

    14 सूई वाली जगह पर एलर्जी होना।

 

इनमे से कोई लक्षण  है, तो दवा का सेवन बंद कर चिकिस्तक से तुरंत संपर्क करें।

पैरासिटामोल का सेवन किन लोगो को नहीं करना चाहिए ? (Which people should not consume Paracetamol in Hindi)

 

कुछ निम्न स्तिथियो में दवा का सेवन नहीं करने की सलाह दी जा सकती हैं।

 

    जैसे की –

1   गुर्दे की बीमारी।

2   लिवर रोग। (और पढ़े – लंग कैंसर क्या हैं)

3   शराब की लत लगना।

4   न्यूटोपेनिया।

5   ड्रग एलर्जी होना।

 

पैरासिटामोल से संबंधित सावधानी ? (Paracetamol Related Warnings in Hindi)

 

   1 गर्भावस्था – पैरासिटामोल दवा का गर्भवती महिलाओं पर कोई खास दुष्परिणाम नहीं होता हैं।

   2  स्तनपान – स्तनपान करने वाली महिलाओं को पैरासिटामोल दवा का सेवन कर सकते हैं।

   3  गुर्दा – पैरासिटामोल दवा पर किडनी पर अधिक बुरा प्रभाव नहीं डालता है। इसका हानिकारक प्रभाव कम होता हैं।

   4  जिगर – पैरासिटामोल दवा का बुरा प्रभाव लिवर पड़ सकता है। अगर किसी व्यक्ति में दवा का सेवन करने पर दुष्परिणाम होते है तो चिकिस्तक के सलाह के बाद ही सेवन करें।

   5   हृदय – पैरासिटामोल दवा का हृदय पर निम्न दुष्परिणाम हो सकते है। हालांकि हृदय रोग से ग्रस्त है तो चिकिस्तक से सलाह ले। (और पढ़े – हार्ट अटैक आने क कारण क्या हैं)

 

 

दवाओं या उपचार के किसी भी पहलू की जिम्मेदारी नहीं लेता है। यदि आपको अपनी दवा के बारे में कोई संदेह है, तो हम आपको तुरंत एक डॉक्टर को देखने की सलाह देते हैं

 

महिलाओं को कमर में दर्द क्यों रहता है ?

चलिए जानते है महिलाओं में कमर दर्द का कारण -Chalia jante hai  Mahilaon me kamar dard ka karan

 

कमर दर्द होने के कई कारण ऐसे हैं जो सिर्फ महिलाओं में ही होते हैं। इस लिस्ट में निम्नलिखित समस्याएं शामिल हैं :

महिलाओं में कमर दर्द का कारण प्रीमेंस्ट्रुअल सिंड्रोम (पीएमएस) - PMS ke karan kamar dard

 

 मासिक धर्म से पहले बहुत सी लड़कियों और महिलाओं को  प्रीमेंस्ट्रुअल सिंड्रोम की स्थिति महसूस होती है। पीएमएस के कई लक्षण हैं जैसे सिरदर्द, थकान, पेट फूलना, मूड स्विंग, चिंता और बेचैनी और इन्हीं में से एक है कमर में तेज दर्द की समस्या। पीएमएस पीरियड्स से कुछ दिन पहले शुरू होता है और पीरियड्स शुरू होने के एक या दो दिन बाद समाप्त हो जाता है।

 

चलिए जानते है  महिलाओं में कमर दर्द का कारण प्रीमेंस्ट्रुअल डिस्मॉर्फिक डिसऑर्डर (पीएमडीडी) - PMDD ke karan kamar dard

 

पीएमडीडी, पीएमएस का गंभीर रूप है| पीएमडीडी के भावनात्मक और शारीरिक लक्षण पीएमएस के जैसे ही होते हैं। पीएमडीडी से पीड़ित महिलाओं में कमर दर्द की समस्या बहुत ज्यादा होती है।

 

चलिए जानते है  महिलाओं में कमर दर्द का कारण एंडोमेट्रिओसिस - Endometriosis ke karan kamar dard

 

एंडोमेट्रिओसिस एक ऐसी स्थिति है, जिसमें ऊतक जो कि गर्भाशय को लाइन करता है, जिसे एंडोमेट्रियल ऊतक के रूप में जाना जाता है, वह गर्भाशय के बाहर बढ़ता है। एंडोमेट्रिओसिस का सबसे कॉमन लक्षण है दर्द। कमर के निचले हिस्से और पेल्विक के हिस्से में तेज दर्द और मासिक धर्म के दौरान पेशाब करते वक्त तेज दर्द महसूस होना एंडोमेट्रिओसिस का अहम लक्षण है।

चलिए जानते है  महिलाओं में कमर दर्द की समस्या डिस्मेनोरिया के कारण - Dysmenorrhea ke karan kamar dard

 

जब मासिक धर्म के दौरान सामान्य से भी बहुत ज्यादा तेज दर्द महसूस होता है तो इसे डिस्मेनोरिया कहते हैं। डिस्मेनोरिया की वजह से होने वाला दर्द आमतौर पर पेट के निचले हिस्से में, पीठ के निचले हिस्से या कमर में, कूल्हों और पैरों में महसूस होता है। यह आमतौर पर 1 से 3 दिनों तक रहता है। दर्द या तो हल्का-फुल्का सुस्त जैसा भी हो सकता है, लेकिन बेहद तेज शूटिंग दर्द भी महसूस हो सकता है।

 

गर्भावस्था में होता है महिलाओं में कमर दर्द - Pregnancy me kamar dard

 

गर्भावस्था के दौरान कमर में दर्द होना आम बात है। यह आमतौर पर इसलिए होता है क्योंकि प्रेगनेंसी के दौरान गुरुत्वाकर्षण का केंद्र बदल जाता है, आपका वजन बढ़ जाता है और आपके हार्मोन्स लिगामेंट्स को डिलिवरी की तैयारी के लिए रिलैक्स करने लगते हैं। ज्यादातर महिलाओं को कमर में दर्द प्रेगनेंसी के पांचवें महीने और सातवें महीने के बीच होता है, लेकिन यह पहले भी शुरू हो सकता है। अगर आपको पहले से ही कमर में दर्द हो, तो आपको गर्भावस्था के दौरान कमर में दर्द अधिक होने की आशंका होती है।

 

पिरिफॉर्मिस सिंड्रोम के कारण महिलाओं में कमर दर्द - Piriformis syndrome ke karan kamar dard

 

आपके पिरिफोर्मिस मांसपेशी में ऐंठन की वजह से उत्पन्न दर्द, नितंब में गहरी स्थित एक बड़ी मांसपेशी, जिसे पिरिफोर्मिस सिंड्रोम कहा जाता है। श्रोणि में हार्मोन और गर्भावस्था से संबंधित परिवर्तनों के कारण महिलाएं इस दर्द की समस्या से अधिक प्रभावित होती हैं। पिरिफॉर्मिस सिंड्रोम की वजह से साइटिक नस में इरिटेशन होने लगती है, जिस कारण कमर में, जांघ में और पैरों में तेज दर्द होने लगता है।

 

महिलाओं में कमर दर्द सैक्रोलिऐक जॉइंट डिस्फंक्शन के कारण - Sacroiliac joint dysfunction ke karan kamar dard

 

महिलाओं में आमतौर पर पुरुषों की तुलना में एक छोटा सैक्रोलिऐक (एसआई) जॉइंट सतह होता है, जिसके परिणामस्वरूप इस जॉइंट या जोड़ पर भार की सघनता अधिक होने लगती है। सैकरम या त्रिकास्थि भी व्यापक होती है, अधिक असमान, कम घुमावदार और महिलाओं में पीछे की तरफ झुका हुआ होता है, जिससे एसआई जॉइंट में समस्या हो सकती है। एसआई जॉइंट की परेशानी होने पर कमर में, नितंब के ठीक ऊपर और जांघ के नीचे तेज दर्द होने लगता है।

महिलाओं में कमर दर्द स्पाइनल ऑस्टियोआर्थराइटिस के कारण - Spinal osteoarthritis ke karan kamar dard

 

फेसेट जॉइंट (रीढ़ के जोड़ को कनेक्ट करने वाले जॉइंट) में घिसाई या टूट-फूट से जुड़ी आर्थराइटिस को ऑस्टियोआर्थराइटिस कहते हैं और यह महिलाओं में ज्यादा कॉमन है। उम्र और वजन में वृद्धि के साथ इस समस्या का जोखिम अधिक हो जाता है। ऑस्टियोआर्थराइटिस के कारण कमर के ऊपरी हिस्से में, निचले हिस्से में, नितंब में, जांघ में तेज दर्द, पीठ में जकड़न जैसी समस्याएं महसूस होती हैं।

 

महिलाओं में कमर दर्द की समस्या डीजेनेरेटिव स्पॉन्डिलोलिस्टीसिस के कारण - Degenerative spondylolisthesis ke karan kamar dard

 

जब आपके रीढ़ में एक कशेरुका (वरटेब्रा) डीजेनेरेशन की वजह से उसके नीचे फिसल जाती है, तो इसे ही अपक्षयी या डीजेनेरेटिव स्पॉन्डिलोलिस्टीसिस कहा जाता है। ऐस्ट्रोजन का स्तर कम होने के कारण रजोनिवृत्ति के बाद की महिलाओं में यह स्थिति ज्यादा कॉमन है। डीजेनेरेटिव स्पॉन्डिलोलिस्टीसिस के कारण पैरों में और कमर के निचले हिस्से में तेज दर्द महसूस होता है।

महिलाओं में कमर दर्द का इलाज - Mahilaon me kamar dard ka ilaj

 कमर में होने वाला अधिकांश तेज दर्द कुछ हफ्तों के घरेलू उपचार के साथ खुद ही बेहतर हो जाता है। हालांकि, हर व्यक्ति अलग होता है और कमर और पीठ का दर्द एक जटिल स्थिति है। कई लोगों के लिए, दर्द लंबे समय तक दूर नहीं होता है, लेकिन केवल कुछ लोगों को लगातार, गंभीर दर्द होता रहता है। तेज कमर दर्द के लिए, ओवर-द-काउंटर (ओटीसी) दर्दनिवारक दवाइयां जैसे- नॉन स्टेरॉयडल एंटी इंफ्लेमेटरी ड्रग्स (एनएसएआईडी), आईबूप्रोफेन, नैप्रोक्सेन, ऐस्प्रिन आदि का इस्तेमाल कर सकती हैं और हीट टेक्नीक का इस्तेमाल भी किया जा सकता है। हालांकि, कमर या पीठ दर्द की समस्या में बेड रेस्ट यानी बिस्तर पर आराम की सलाह नहीं दी जाती।

अपनी गतिविधियों को तब तक जारी रखें जिब तक आप सहन कर सकती हैं। कमर दर्द होने के बावजूद हल्की गतिविधि, जैसे वॉक करना और दैनिक जीवन के सभी कार्यों को हमेशा की तरह जारी रखें। वैसे कार्य या गतिविधियां जिन्हें करने से आपका कमर दर्द बढ़ता हो उन्हें रोक दें, लेकिन दर्द के डर से कोई भी काम या गतिविधि करने से न बचें। यदि घरेलू उपचार कई हफ्तों के बाद भी काम नहीं कर रहे हों तो डॉक्टर आपको ज्यादा पावर वाली स्ट्रॉन्ग दवाइयां या कोई दूसरा उपचार करवाने का सुझाव दे सकते हैं।

महिलाओं में कमर दर्द का घरेलू उपचार - Mahilon me kamar dard ka gharelu upchar

अगर आपको हर महीने होने वाल मासिक धर्म से जुड़े दर्द, पीएमएस या मांसपेशियों में खिंचाव की वजह से कमर में दर्द हो रहा हो तो आप निम्नलिखित घरेलू नुस्खों का इस्तेमाल कर सकती हैं :

 

1. हीटिंग पैड का इस्तेमाल

आपकी पीठ या कमर पर लगाया गया एक हीटिंग पैड ब्लड सर्कुलेशन को बढ़ावा दे सकता है जिसके बदले में, पोषक तत्व और ऑक्सीजन कमर की मांसपेशियों तक आसानी से पहुंच जाते हैं। (और पढ़ें - सिंकाई क्या है, कैसे करें)

 

2. गर्म पानी से नहाएं

जब कमर या पीठ में दर्द हो तो गर्म पानी से नहाना भी फायदेमंद हो सकता है, क्योंकि ऐसा करने से ब्लड सर्कुलेशन बेहतर होता है और मांसपेशियों में दर्द और जकड़न की समस्या कम होती है।

 

3. एक्सरसाइज करें

अगर आप एक्सरसाइज करें, दिनभर गतिशील बने रहें तो इससे भी शरीर में सर्कुलेशन बेहतर होता है और जिन मांसपेशियों में खिंचाव उत्पन्न होता है उसे भी आराम दिलाने में मदद मिलती है।

 

4. आइस पैक लगाएं

अगर आपको किसी तरह की चोट या मांसपेशियों में तनाव की वजह से कमर में दर्द महसूस हो रहा हो तो आप आइस पैक का इस्तेमाल कर सकती हैं। इससे सूजन और जलन को कम करने में, दर्द और खरोंच की समस्या भी कम करने में मदद मिलती है। हालांकि, चोट लगने या मांसपेशियों में खिंचाव होने के 48 घंटे के अंदर आइस पैक इस्तेमाल करने पर ही यह फायदेमंद साबित हो सकता है। (और पढ़ें - बर्फ से सिंकाई कैसे करते हैं, इसके क्या फायदे हैं)

 

5. तकिया लगाएं

अगर आप करवट लेकर सोती हैं तो अपने पैरों के बीच में तकिया रखें और अगर पीठ के बल सोती हैं तो अपने घुटनों के नीचे तकिया रखें। ऐसा करने से कमर का दर्द और असहजता को कम करने में मदद मिलेगी।

 

6. सही कुर्सी का चुनाव करें

ऐसी कुर्सी पर बैठें जिससे आपकी कमर को बेहतर तरीके से सपोर्ट मिले, ताकि बैठे रहने के दौरान आपको कमर में दर्द की समस्या महसूस न हो।

पतंजलि कमर दर्द की दवा
कमर दर्द के लिए सबसे प्रमुख योगासन हैं मकरासन, भुजंगासन, शलभासन और मर्कटसन। इनके साथ अर्धचंद्रासन या उष्ट्रासन भी कर सकते हैं।

 


Read More »